शिवराज सरकार नहीं चाहिए


जब कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह जी को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया था,
तब राज्य में लोग एक दूसरे से जुड़े हुए थे। पड़ोसि अक्सर माचिस, अतिरिक्त मोमबत्ती, अतिरिक्त केरोसिन आदि लेने के लिए एक-दूसरे के यहां जाते थे।
पहले अन्य राज्यों ओर देशों के लोग घूमने नहीं आते थे।
लोग साफ़ सफ़ाई जैसी छोटी चीज़ों मे समय नष्ट नहीं करते थे।
दिग्विजयसिंह जी के समय दूसरे राज्यों से अनाज ओर दूध मंगाना/खरीदना पड़ता था, जिससे पड़ोसी राज्य खुश रहते थे।
पहले ज्यादातर नवजात शिशु प्रसव के दौरान ही मौत का ग्रास बन जाते थे।
पहले सड़कें कच्ची ओर ख़राब होने से नव दपन्ती को सफर के दौरान ज्यादा समय मिलता था, एक दूसरे के साथ वक़्त बिताने का।
बच्चे अपना खाली समय बाहर खेलने के लिए इस्तेमाल करते थे क्योंकि बिजली के बिना टीवी देखने का कोई तरीका नहीं था।
लेकिन शिवराज चौहान सरकार के तहत, पड़ोसी एक-दूसरे के नाम को भी नहीं जानते हैं, वे हर समय अंदर रहते हैं, कोई भी खिड़कियां नहीं खोलता है क्योंकि घरों मे एसी चल रहा होता है।
लोग जाने क्यों इतनी साफ़सफाई रखते है, बल्कि अपने घरो का महंगा कचरा रोज सुबह ऑटो वाले को मुफ्त में दे देते है।
अब बाहर के लोग यहां घूमने आते है। अब उनसे होने वाली कमाई/ आमदनी की चोरी होनेका खतरा रहता है।
अब इतना अनाज ओर दूध का उत्पादन होता है की, उनके भण्डारण की समस्या हो गई हैं।
इस शिवराज सरकार ने मातृ-शिशु मृत्यु दर को बिल्कुल कम कर दिया है, जिससे डॉक्टरों की कमाई कम पड़ गई है।
शिवराज सरकार ने अच्छी सड़के बनाकर यात्रा को छोटा कर दिया है।
बच्चे अब टीवी देख पाते है।
उम्मीद है कि आज सब लोग कांग्रेस के लिए वोट देंगे ताकि नया मुख्यमंत्री चीजों को ठीक कर सके। धन्यवाद 🙏
-श्री राम
Reactions

Post a comment

0 Comments